गांधी जी के अनमोल वचन | महात्मा गांधी के शैक्षिक विचार

By | सितम्बर 30, 2022
Gandhi ji ke Anmol Vichar

Gandhi ji Ke Anmol Vachan:- हम सब महात्मा गांधी के विचारों पर चलने का प्रयास करते है। महात्मा गांधी एक सत्य और अहिंसा पर चलने वाले महान स्वतंत्रता सेनानी थे। सत्य और अहिंसा के विचारों पर बड़े-बड़े स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता ज्ञानी चलकर अपने जीवन में सफलता को प्राप्त किया है। महात्मा गांधी बहुत ही महान व्यक्ति थे जिनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात राज्य के पोरबंदर में हुआ था। पेशे से वकील और राजनेता किए थे जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए विभिन्न प्रकार के आंदोलनों का नेतृत्व किया था। महात्मा गांधी के अनमोल वचन हर किसी के लिए प्रेरणात्मक है जो विषम से विषम परिस्थिति में आपको उचित राह दिखाने का प्रयत्न करते है। अगर आप महात्मा गांधी के विचारों पर चलना चाहते हैं तो आज के लेख में गांधीजी के कुछ अनमोल विचार के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी गई है।

इस लेख में हम ने महात्मा गांधी के अनमोल विचारों पर विस्तार पूर्वक चर्चा किया है और उनके कुछ विचारों की सूची को नीचे प्रस्तुत किया है। आज के समय में हर बच्चे को महात्मा गांधी के अनमोल विचार के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

Gandhi ji ke Vichar

Gandhi ji Ke Anmol Vachan

Jayanti Ka NameGandhi Jayanti 2022
कैसे मनाते हैपूरे भारतवर्ष में महात्मा गांधी के विचारों का समारोह आयोजित करके
कब मनाते हैहर साल 2 अक्टूबर को
क्यों मनाते हैराष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्म दिवस के अवसर पर
Gandhi Jayanti 2022Similar Article Links
 गांधी जयंती से जुड़ी अहम जानकारीClick Here
 गांधी जयंती पर निबंध हिंदी मेंClick Here
गांधी जयंती कोट्स हिंदी मेंClick Here
गांधी जयंती स्टेटस हिंदी मेंClick Here
गांधी जयंती पर कविता हिंदी मेंClick Here
गांधी जयंती पर भाषण हिंदी मेंClick Here
गांधी जयंती शायरी हिंदी मेंClick Here
गांधी जी के अनमोल वचन Click Here

गांधी जी के अनमोल वचन | Mahatma Gandhi Ke Anmol Vachan

अगर आप महात्मा गांधी के अनमोल वचन के बारे में विस्तार पूर्वक जानना चाहते हैं तो नीचे दी गई सभी जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़ें और उनका इस्तेमाल आप विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी कर सकते है।

READ  50 + Happy Holi Quotes in Hindi | Holi Quotes in Hindi | पढ़िए होली पर शायरी, शुभकामना सन्देश, कोट्स, कविता हिंदी में

कमजोर कभी क्षमाशील नहीं हो सकता है. क्षमाशीलता ताकतवर की निशानी है।

हम जो करते हैं और हम जो कर सकते हैं, इसके बीच का अंतर दुनिया की ज्यादातर समस्याओं के समाधान के लिए पर्याप्त होगा।

कोई कायर प्यार नहीं कर सकता है; यह तो बहादुर की निशानी है।

भविष्य में क्या होगा, मैं यह नहीं सोचना चाहता। मुझे वर्तमान की चिंता है। ईश्वर ने मुझे आने वाले क्षणों पर कोई नियंत्रण नहीं दिया है।

अपनी गलती को स्वीकारना झाडू लगाने के समान है, जो धरातल की सतह को चमकदार और साफ कर देती है

श्रद्धा का अर्थ है आत्मविश्वास और आत्मविश्वास का अर्थ है ईश्वर में विश्वास।

महात्मा गांधी के सुविचार

महात्मा गांधी अपने विचार और सत्य अहिंसा के कर्म की वजह से जाने जाते थे। आज महात्मा गांधी के विचारों पर एक संक्षिप्त सूची नीचे प्रस्तुत की गई है उसे ध्यानपूर्वक पढ़ें –

कुछ लोग सफलता के केवल सपने देखते हैं जबकि अन्य व्यक्ति जागते हैं और कड़ी मेहनत करते है।

सुख बाहर से मिलने की चीज नहीं, मगर अहंकार छोड़े बगैर इसकी प्राप्ति भी होने वाली नहीं। अन्य से पृथक रखने का प्रयास करें।

दुनिया में ऐसे लोग हैं, जो इतने भूखे हैं कि भगवान उन्हें किसी और रूप में नहीं दिख सकता सिवाय रोटी के रूप में।

Gandhi Jayanti

प्रेम दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति है और फिर भी हम जिसकी कल्पना कर सकते हैं उसमें सबसे नम्र है।

जब तक गलती करने की स्वतंत्रता न हो, तब तक स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं है।

महात्मा गांधी के विचार

महात्मा गांधी के विचार के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी हर बच्चे को होनी चाहिए। गांधी जी के विचारों में इतनी शक्ति थी कि उन्होंने बिना हथियार के अंग्रेजों को देश से बाहर निकाल दिया। यही कारण है कि महात्मा गांधी के विचार पर विस्तारपूर्वक अमल करना बहुत आवश्यक है। इस वजह से महात्मा गांधी के विशेष विचार की एक सूची नीचे दी गई है:-

READ  World Polio Day 2022 | विश्व पोलियो दिवस कब मनाया जाता हैं, थीम जाने

आप अपनी विनम्रता द्वारा पूरी दुनिया को हिला सकते हैं।

कमज़ोर कभी क्षमा नहीं कर सकते, क्षमा तो ताकतवर व्यक्ति की विशेषता है।

कमज़ोर कभी क्षमा नहीं कर सकते, क्षमा तो ताकतवर व्यक्ति की विशेषता है।

महात्मा गांधी के शैक्षिक विचार

कोई भी हमारे आत्म सम्मान के साथ नहीं खेल सकता, जबतक हम इसकी इज़ाज़त न दें।

शांति का कोई दूसरा रास्ता नहीं है, केवल शांति है।

मेरा मन मेरा मंदिर है, मैं किसी को भी अपने गंदे पाँव के साथ मेरे मन से नहीं गुजरने दूंगा।

जब तक आप किसी को वास्तव में खो नहीं देते, तब तक आप उसकी अहमियत नहीं समझते।

हर रात, जब मैं सोने जाता हूँ, मैं मर जाता हूँ। अगली सुबह, जब मैं उठता हूँ, मेरा पुनर्जन्म होता है।

2 October Gandhi Jayanti

गांधी जी की शिक्षा | Mahatma Gandhi Education

गांधीजी वकालत के साथ-साथ आध्यात्म की भी बड़े स्तर पर पढ़ाई की थी जिस वजह से उनके विचारों में अहिंसा और सत्य इस कदर घर कर गया था। गांधी जी बचपन से ही पढ़ाई में और नेतृत्व में काफी अच्छे थे वह एक बहुत ही बेहतरीन वक्ता थे। उनका व्यक्तित्व राजनीतिज्ञ वाला था मगर उनके पिता चाहते थे कि मोहनदास करमचंद गांधी एक वकील बने जिस वजह से अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूर्ण बंदर से पूरी करने के बाद वह अपनी बैरिस्टर या वकालत की पढ़ाई के लिए लंदन चले गए थे।

उसके बाद वह वकालत का कार्य दक्षिण अफ्रीका में करते थे जहां पर कुछ साल रह कर वकालत का कार्य किया और गोपाल कृष्ण गोखले से राजनीति का ज्ञान हासिल किया। उन्होंने राजनीति की पढ़ाई भी की थी और इस तरह वह वकालत अध्यात्म और राजनीति की पढ़ाई करने के बाद एक महान स्वतंत्रता सेनानी राजनीतिज्ञ और वकील के रूप में पूरे विश्व भर में उभरकर सामने आए थे। 

READ  Eknath Shinde Biography in Hindi | एकनाथ शिंदे का जीवन परिचय, परिवार, संपत्ति कितनी है

Gandhi ji Ke Anmol Vachan FAQ’s

Q. महात्मा गांधी की सोच कैसी थी?

महात्मा गांधी की सोच सत्य और अहिंसा की थी जिसमें सत्य और अहिंसा के पथ पर चलते हुए उन्होंने देश को आजादी दिलाई थी। 

Q. महात्मा गांधी कौन थे?

महात्मा गांधी एक महान स्वतंत्रता सेनानी राजनीतिज्ञ और लेखक थे।

Q. महात्मा गांधी ने कौन सी किताब लिखी थी?

महात्मा गांधी ने अहिंसा के मार्ग पर चलकर किस तरह है अंग्रेजों से देश को मुक्त करवाया इस अनुभव को अपनी आत्मकथा “माय एक्सपेरिमेंट विथ ट्रुथ” नाम की किताब में लिखा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *