राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर निबंध हिंदी में | National Voters Day Essay in Hindi

Rashtriya Matdata Diwas Essay

National Voters Day Essay in Hindi:- भारत एक लोकतांत्रिक देश है। जैसा कि हम सभी जानते हैं, भारत (India) जैसे लोकतांत्रिक देश में मतदान किसी त्योहार से कम नहीं होता है। हमारे देश भारत में हर साल 25 जनवरी को मतदाता दिवस (voter’s day) का आयोजन किया जाता है। ये एक अहम दिन है, इस दिन नागरिकों का ध्यान चुनाव और उसके मह्तव की ओर जाता है। इस देश में निरपेक्ष और सुचारू चुनाव का जिम्मा भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) के पास है। इस संवैधानिक निकाय का गठन 25 जनवरी, 1950 को हुआ था। तो आइए इस लेख के जरिए हम राष्ट्रीय मतदाता दिवस के महत्व और इससे जुड़े विभिन्न पहलुओं के बारे में जानते हैं। 

इस दिन महाविद्यालय में विद्यार्थियों की निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। प्रोग्राम में भाग लेने वालों को पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस का आयोजन लोगों को यह भी बताता है कि हर व्यक्ति के लिए मतदान करना जरूरी है। इस लेख में हम आपके सामने निबंध प्रस्तुत करेंगे जिससे आप निबंध प्रतियोगिता में भी यूज कर सकते है वहीं इसको पढ़ कर आप अपनी मतदाता दिवस की जानकारी को भी बढ़ा सकते है। इस निबंध लेख को हमने राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर निबंध,Rashtriya Matdata Diwas Par Nibandh ,national voter day Essay in Hindi ,मतदाता जागरूकता पर निबंध,राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर 10 पंक्तियाँ के आधार पर तैयार किया है। एक बहतरीन निबंध पढ़ने के लिए इस लेख को पूरा पढ़े।

Rashtriya Matdata Diwas Par Nibandh – Overview 

टॉपिकराष्ट्रीय मतदाता दिवस निबंध
लेख प्रकारनिबंध
साल2024
राष्ट्रीय मतदाता दिवस 202325 जनवरी
वारबुधवार
राष्ट्रीय चुनाव आयोग स्थापना25 जनवरी
राष्ट्रीय मतदाता दिवस  शुरुआत2011
अवर्तिहर साल
साल 2024 राष्ट्रीय मतदाता दिवस कौन सा है14वां
उद्देश्यलोगों को वोट डालने के लिए जागरुक करना
राष्ट्रीय मतदाता दिवस की शुरुआत किसने की पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल 

National Voter Day Essay in Hindi | राष्ट्रीय मतदाता दिवस

भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) की स्थापना 25 जनवरी, 1950 को की गई थी। इस तारीख को ही राष्ट्रीय मतदाता दिवस के रूप में मनाए जाने की पहल की गई। इसे साल 2011 से मनाया जा रहा है। भारत में इस दिन सरकार द्वारा मतदान के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इस दिन नागरिकों को यह भी बताया जाता है, कि देश की तरक्की में उनकी भागीदारी का कितना महत्व है।

See also  वर्ल्ड एड्स डे पर निबंध हिंदी में | Essay On World Aids Day in Hindi (कक्षा-3 से 10 के लिए)

एक वोट से ही देश की तकदीर में एक बड़ा बदलाव आ सकता है। देश की जनता के पास ही अपने नेता को चुनने का अधिकार होता है। हम ही देश की सरकार चुनते हैं और यह फैसला करते हैं, कि सही नेता कौन है और गलत कौन। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य है लोगों को लोकतंत्र के बारे में जानकारी देना, इसके जरिए लोगों को मतदान का सही मतलब बताया जाता है, जिससे ज्यादा लोग जागरुक हो सकें। 

भारतीय चुनाव आयोग (Election Commission of India) की स्थापना 1950 में की गई थी। जिसके बाद 25 जनवरी 2011 में इसकी 61वें स्थापना दिवस पर राष्ट्रीय मतदाता दिवस(national voter day) मनाया गया, उसी समय भारत की तत्काल राष्ट्रपति श्रीमति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल (Mrs. Pratibha Devi Singh Patil) ने इस दिवस को मनाने की शुरुआत की। साल 2011 में भारतीय निर्वाचन आयोग (election Commission of India) के 61वें स्थापना दिवस पर पहले राष्ट्रीय मतदाता दिवस का पदार्पण किया गया था। इस दिन देश के लोगों को उनके कर्तव्यों को याद कराया जाता है। 

मतदाता जागरूकता पर निबंध | Essay for Voter Awareness

किसी भी लोकतंत्र की मर्यादा मूल रूप से उसकी चुनावी प्रक्रिया पर निर्भर करती है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस आम नागरिकों को बतलाता है, कि उनका एक वोट भी देश के हित में कितना निर्णायक सिध्द होता है। इस दिन मतदाता को जागरुक करने के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। चुनावी प्रक्रिया में अच्छा प्रदर्शन करने वालों को सम्मानित किया जाता है। भाषण, प्रतियोगिता, हस्ताक्षर अभियान, वोटर आईडी वितरण आदि प्रोग्रामों का आयोजन किया जाता है। इस दिवस के मौके पर हर साल एक थीम तैयार की जाती है। उसी के हिसाबसेइस दिन को सेलिब्रेट किया जाता है।

अब 2023 में इसकी थीम समावेशी, सुगम एवं सहभागी निर्वाचन की ओर अग्रसर है।  भारत के प्रत्येक नागरिक का मतदान प्रक्रिया में भागीदारी जरूरी है। आम आदमी का एक वोट भी सरकार बदलने की ताकत रखता है। हम सबका एक वोट ही पलभर में एक अच्छा प्रतिनिधि भी चुन सकताहै और एक बेकार प्रतिनिधि भी चुन सकता है। इसलिए भारत के नागरिकों को सोच समझकर वोट डालना चाहिए। ऐसी सरकार चुनना हमारा कर्तव्य है जो देश को विकास के रास्ते पर ले जाए। देश में सबसे ज्यादा आबादी युवाओं की है। युवाओं को बढ़चढ़ कर मतदान के इस महायज्ञ में आहुति देनी चाहिए।  

See also  गुरु तेगबहादुर पर निबंध | Short(10 lines) and Long Essay on Guru Tegbahadur in Hindi

राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर निबंध PDF

National Voters Day Essay in Hindi PDF में देखने के लिए आप निचे दी गई PDF File को Download कर सकते है।

National Voter Day PDF Download

राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर 10 पंक्तियां | 10 lines on National Voters Day

• 25 जनवरी 1950 को चुनाव आयोग(Election commission) की स्थापना हुई थी। 

• चुनाव आयोग के 61 वें स्थापना दिवस पर तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल  (President   Pratibha Devi Singh Patil) ने इसकी शुरुआत की थी। 

• यह दिवस लोकतंत्र में आम आदमी की ताकत का अहसास कराता है। 

• वोट देने के लिए न्यूनतम आयु 18 साल होनी चाहिए। 

• वोट देना हमारा कर्तव्य और जिम्मेदारी है।

• सरकार इस दिन, लोगों को जागरुक करने के लिए यह अभियान चलाती है।

• जिसे किसी भी नेता को वोट नहीं डालना वह नोटा का उपयोग कर सकता है। 

• जिस पते पर आपका वोटर आईडी हो, उसी जगह पर आप वोट डाल सकते हैं। 

• सारे काम छोड़ दो, सबसे पहले वोट दो, का नारा काफी फेमस रहा है। 

• हमें किसी के बहकावे में आकर अपना वोट नहीं डालना चाहिए। 

• अपने वोट को बेचना नहीं चाहिए।  

वोटर हेल्पलाइन एप्प | Voter Helpline App

भारत के ऐसे युवा जो हाल ही में मतदाता बनने वाले हैं। अर्थात उनकी उम्र 18 वर्ष हो चुकी है, और अब Voter ID Card बनवाना चाहते हैं। तो वह घर बैठे मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से वोटर आईडी कार्ड के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं, सरकार द्वारा लॉन्च किए गए वोटर आईडी कार्ड एप्लीकेशन (Voter Helpline App) जिनके माध्यम से मतदाता पंजीकरण से लेकर अन्य सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं।
Voter Helpline App को आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। डाउनलोड करने के पश्चात वोटर हेल्पलाइन एप्लीकेशन पर अपना पंजीकरण कर ले। पंजीकरण फॉर्म के साथ-साथ अन्य सेवाएं इस मोबाइल एप्लीकेशन पर उपलब्ध होगी जैसे:-
Form No. 6 नव मतदाता पंजीकरण के लिए।
Form No. 6B आधार से मतदाता पहचान पत्र जोड़ने के लिए।
Form No. 7 वोटर लिस्ट में नाम हटाने के लिए।
Form No. 8 मतदाता विवरण में त्रुटि होने पर इस फॉर्म का उपयोग कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त मतदाता का स्थाई परिवर्तन होने पर पता चेंज कर सकते हैं। विशेष योग्यजन मतदाता (PwD) ऑनलाइन सेवाओं हेतु मोबाइल नंबर जोड़ना। इत्यादि के लिए फॉर्म नंबर 8 का उपयोग कर सकते हैं।
इसी के साथ Application पर चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। चुनाव के परिणाम जान सकते हैं। इसी के साथ चुनाव एवं विभाग से जुड़ी शिकायतों को दर्ज कर सकते हैं।

See also  स्वामी विवेकानंद पर निबंध हिंदी में | Swami Vivekananda Essay in Hindi

सक्षम ईसीआई ऐप | Saksham-ECI App

मतदान विभाग द्वारा मतदाता के रूप में रजिस्ट्रेशन करने हेतु नया एप्लीकेशन लॉन्च (Saksham-ECI App) किया है। इस मोबाइल एप्लीकेशन पर आप नए मतदाता पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकते हैं। दिव्यांग मतदाता के रूप में चीनी करण कर सकते हैं। वोटर आईडी कार्ड में संशोधन एवं वोटर कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कर सकते हैं।
ऐसे मतदाता जो फिजिकली फिट नहीं है। अर्थात दिव्यांग है वह इस ऍप पर मतदान विभाग से पूर्व अनुरोध कर सकते हैं, कि उन्हें व्हीलचेयर या परिवहन की सुविधा दी जाए ताकि वे अपने मतदान अधिकार का पालन कर सकें।
सक्षम ईसीआई मोबाइल एप्लीकेशन पर मतदाता सूची में नाम देख सकते हैं। लोकेटर देख सकते हैं। उम्मीदवार के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

FAQ’s National Voters Day Essay in Hindi

Q. राष्ट्रीय मतदाता दिवस कब मनाया जाता है?

Ans. 25 जनवरी को हर साल मतदाता दिवस मनाया जाता है।

Q. राष्ट्रीय मतदाता दिवस कैसे मनाया जाता है?

Ans. मतदान जागरुकता कार्यक्रम के जरिए राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। 

Q. राष्ट्रीय चुनाव आयोग की स्थापना कब हुई थी?

Ans. 25 जनवरी को राष्ट्रीय चुनाव आयोग की स्थापना हुई थी। 

Q. राष्ट्रीय मतदाता दिवस कब शुरु हुआ था?

Ans. 2011 से राष्ट्रीय मतदाचा दिवस मनाने की शुरुआत हुई थी।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja