राखी पर निबंध 2022 | Essay on Rakhi in Hindi | राखी त्यौहार कैसे बनाया जाता हैं

By | अगस्त 10, 2022
Rakhi Essay in Hindi

Rakhi Essay in Hindi:- भारत में अलग-अलग तरह के त्यौहार मनाए जाते हैं. उसमें रक्षाबंधन एक अलग अहमियत दी जाती है क्योंकि यह भाई बहन का त्यौहार है . जहां एक भाई अपने बहन को रक्षा का वचन देता है यह त्योहार महाभारत काल से चली आ रही है . हर साल श्रवण पूर्णिमा के दिन रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जाता है. इस वर्ष राखी 11 अगस्त 2022 गुरुवार को मनाई जाएगी . जिस दिन एक बहाना अपने भाई की कलाई पर राखी बांध करो उससे रक्षा का वचन लेती है और बदले में भाई उसे कुछ उपहार देता है। अक्सर अलग-अलग त्योहारों पर निबंध लिखने को स्कूल या कॉलेज में कहा जाता है . अगर आप इस तरह की किसी प्रतियोगिता या स्कूल कॉलेज मैं पढ़ते हैं और Rakhi Essay ढूंढ रहे हैं तो बिल्कुल सही जगह पर है आज के लेख में हम आपको रक्षाबंधन निबंध देने जा रहे हैं जो आपके बहुत काम आएगा। 

अगर आप भारत के निवासी है तो भारत की विभिन्न संस्कृति से अवश्य ही आप प्रभावित हो रहे होंगे इस देश की बहुत सी खासियत में एक खासियत अलग-अलग त्योहार भी है। त्योहारों को ज्यादा बेहतर से समझाने के लिए निबंध लिखने के लिए किसी प्रतियोगिता में या स्कूल कॉलेज में दिया जाता है अगर आप राखी पर निबंध 2022 ढूंढ रहे है. तो आज का यह लेखा आपके लिए बहुत कीमती साबित हो सकता है हमने अलग अलग तरीके से बहुत सारे निबंध आपके लिए नीचे प्रस्तुत किए हैं।

राखी पर निबंध 2022 मुख्य बिंदु | Essay on Rakhi 2022 Key Points

About Article Rakhi Essay in Hindi
राखी कब मनाई जाएगी राखी 11 अगस्त 2022 गुरुवार को मनाई जाएगी
राखी मुहूर्त 2022 11 अगस्त को सुबह 10 बजकर 38 मिनट 
Raksha Bandhan पूर्णिमा ति​​थिइस बार पूर्णिमा ति​​थि 11 और 12 अगस्त 

रक्षा बंधन पर निबंध (Essay on Raksha Bandhan in Hindi)

Raksha Bandhan हिंदू धर्म का एक बहुत ही पवित्र और प्राचीन इतिहास है. जिसे कई सालों से भारत के अलग-अलग क्षेत्र में मनाया जा रहा है. यह त्यौहार का हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है. जो अगस्त महीने में आता है। 2022 में राखी 11 अगस्त गुरुवार को मनाई जाएगी .यह भाई बहन का त्यौहार है इस त्यौहार को इस मान्यता से मनाया जाता है कि भाई और बहन का रिश्ता और मजबूत और पवित्र बन जाता है इस त्यौहार के दिन बहन अपने भाई के कलाई पर राखी बांधकर उसे से जीवन भर रक्षा का वचन न लेती है . अपनी ख्वाहिश की कोई चीज उसे से मांगती है भाई उसे वचन देता है और उसकी मांग को पूरा करता है।

READ  Azadi Ka Amrit Mahotsav 2022 | अमृत महोत्सव 2022 पर कविता, भाषण, स्लोगन, शायरी, थीम

यह एक बहुत ही बेहतरीन त्यौहार है,हर कोई बहुत ही हर्षोल्लास से मनाता है। इस दिन एक भाई अपने बहन को रक्षा का वचन देता है और इसके लिए सुबह-सुबह बहन भगवान की पूजा करने के बाद अपने भाई के हाथ में राखी का धागा बांधती है दोनों एक दूसरे को मिठाई खिलाते हैं और यह त्यौहार संपूर्ण होता है। जिस बहन का भाई उसी से दूर है तो राखी डाक के सहारे वहां तक भेजती है और यह भाई बहन के रिश्ते को बहुत मजबूत बनाता है। 

Rakhi StatusClick Here
राखी पर निबंध 2022Click Here
बहन भाई की शायरी Click Here
50+ रक्षाबंधन स्टेटसClick Here
रक्षाबंधन कोट्स हिंदी मेंClick Here
राखी बांधने का मुहूर्तClick Here

राखी पर निबंध 2022 | Rakhi Essay in Hindi

हिंदू धर्म में अलग-अलग त्योहार मनाया जाता है उसमें एक त्यौहार हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा में मनाया जाने वाला है जिसे रक्षाबंधन कहा जाता है . यह त्यौहार है हर साल में भाई और बहन के रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए मनाया जाता है. इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधकर उससे रक्षा का वचन लेती है रक्षाबंधन का मतलब होता है . रक्षा का बंधन अर्थात भाई और बहन के बीच एक ऐसा बंधन बनता है जिसमें भाई बहन की रक्षा करेगा ऐसा वचन देता है। रक्षाबंधन के त्यौहार के पीछे अलग-अलग तरह की पौराणिक कथाएं छुपी हुई है.

रक्षा बंधन / राखी क्यों मनाया जाता हैं

मगर सभी पौराणिक कथाओं में सबसे प्रचलित कथा यह है कि द्रौपदी ने श्री कृष्ण के हाथ में चोट लगने पर एक कपड़े का टुकड़ा बांधा था कृष्ण को इससे आराम मिला था .तो कृष्ण ने द्रौपदी से कुछ मांगने को कहा और द्रौपदी ने यह कह कर टाल दिया कि किसी दिन मांगूंगी तो देना। और वह दिन द्रौपदी के चीरहरण के दिन आया जिस दिन द्रौपदी ने अपने लाज की रक्षा के लिए भगवान कृष्ण को याद किया और भगवान कृष्ण ने उस कपड़े के टुकड़े को खोल कर द्रौपदी के साड़ी पर फेंका जिस वजह से उसकी लाज बच सकी .जब भगवान कृष्ण ने इस घटना का वर्णन किया तो उन्होंने बताया कि जिस दिन द्रौपदी ने उनके हाथ पर वह कपड़ा बांधा था .उस दिन श्रवण मास का पूर्णिमा था इस वजह से हर श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन एक बहन अपने भाई के हाथ पर धागा बांधकर उससे यह वचन लेती है. कि किसी दिन उसे अपने भाई की जरूरत पड़ेगी तो वह उसकी रक्षा के लिए आएगा।

हर साल रक्षाबंधन भगवान की सुबह सुबह पूजा के बाद भाई के हाथ पर राखी बांधकर और मिठाई खिलाकर पूरा होता है . इस दिन बहन भाई के हाथ पर राखी बांधने तक उपवास करती है और उसके बाद धागा बांधकर भाई से कुछ मांगती है और प्रथा कई सालों से हिंदू धर्म में रक्षाबंधन के नाम से चली आ रही है यह एक बहुत ही अच्छा त्यौहार है जो भाई और बहन के रिश्ते को पवित्र और ज्यादा मजबूत बनाने के लिए लगभग विश्व के हर क्षेत्र में मनाया जाता है। 

READ  Poetry on Gantntr Divas 2022 | Hindi Poem on 26 January 2022 | गणतंत्र दिवस पर कविता हिंदी में | 26 January Poetry in Hindi | desh Bhakti Kavita

रक्षाबंधन पर निबंध 2022

रक्षाबंधन एक बहुत ही प्रचलित त्यौहार है. जिसे कई सालों से भारत में मनाया जा रहा है पौराणिक कथाओं के अनुसार यह त्यौहार महाभारत के काल से मनाया जा रहा है। सावन महीना के खत्म होने के बाद अगस्त के महीने में श्रवण पूर्णिमा आती है जिस दिन रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जाता है भाई और अपने बहन को रक्षा का वचन देता है जिस वजह से इसे रक्षाबंधन का त्यौहार कहा जाता है।

यह त्यौहार भाई और बहन के रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए कई सालों से भारत के विभिन्न क्षेत्रों में मनाया जा रहा है इस त्यौहार की शुरुआत है अलग अलग पौराणिक कथाओं में अलग अलग तरीके से बताई गई है मगर सबसे प्रचलित कथा महाभारत की है जब भगवान श्री कृष्ण को हाथ पर चोट लगी थी तब उनकी मुंह बोली बहन द्रौपदी ने उनके चोट पर एक कपड़े का टुकड़ा बांधा था और भगवान इससे खुश होकर उसे कुछ मांगने को कहते हैं मगर वह इस बात को टाल देती है और कुछ महीनों बाद जब सभा में द्रोपदी चीर हरण की घटना हो रही थी तब उस वक्त तो उसने भगवान श्री कृष्ण से अपनी लाज को बचाने की मांग की और भगवान ने अपने हाथ में बंधा हुआ वह कपड़े का टुकड़ा खोल कर उसकी साड़ी पर फेंक दिया जिससे चमत्कार हुआ और द्रौपदी की लाज बच सकी।

Rakhi Essay 2022 in Hindi

आगे चलकर भगवान ने के द्वारा की गई इस घटना के समय का पता लगाने पर पता चला कि द्रौपदी ने जब उनके हाथ पर वह कपड़ा बांधा था और भगवान उसकी रक्षा के लिए बाध्य हो गए थे तो उस दिन श्रावण मास पूर्णिमा था और बस उस समय से हर साल श्रवण मास पूर्णिमा के दिन रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जा रहा है आज भी ना केवल भारत में बल्कि विश्व के अलग-अलग क्षेत्र में रक्षाबंधन का त्यौहार भाई-बहन के बीच बहुत हर्ष उल्लास से मनाया जाता है।

रक्षा बंधन का त्यौहार हर साल अगस्त के महीने में मनाया जाता है इस दिन में बहन सुबह सुबह उठ कर नहा धोकर भगवान की पूजा करती है और उसके बाद जब तक भाई की कलाई पर राखी का धागा नहीं बांधी थी तब तक उपवास करती है और उसके बाद सही मुहूर्त पर अपने भाई के कलाई पर राखी का धागा बांधकर अपने भाई से रक्षा का वचन और उपहार लेती है जिसके बाद रक्षाबंधन का त्यौहार संपन्न होता है।

READ  गणतन्त्र दिवस 2022 हर्षोल्लास के साथ मनाया गया | 26 January 2022 celebration

हर साल रक्षाबंधन का त्यौहार हर्षोल्लास के साथ है विश्व के अलग-अलग क्षेत्र में हिंदू भाई बहनों के द्वारा मनाया जाता है यह एक बहुत ही प्रचलित त्यौहार है इस दिन कुछ औरतें भगवान को भी राखी चढ़ाती है और कुछ जगहों पर आर्मी पुलिस जैसे उच्च और रक्षा का कार्य करने वाले सरकारी कर्मचारियों को राखी बांधकर उनका सम्मान किया जाता है जो इस पूरे देश को एक मजबूत डोर में बांधता है।

निष्कर्ष

इस easyhindi rakhi lekh की मदद से हमने आपको रक्षाबंधन पर निबंध या Essay on Raksha Bandhan की जानकारी दी और यह समझाने का प्रयास किया कि रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है और कैसे मनाया जाता है अगर इस लेख को पढ़ने के बाद आपको अलग-अलग शब्द में रक्षाबंधन पर निबंध की जानकारी मिली है जिसे आप अपने स्कूल कॉलेज या किसी प्रतियोगिता में जमा कर सकते हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ भी साझा करें साथ ही रक्षाबंधन से जुड़े किसी भी प्रकार के प्रश्न और उनके जवाब को प्राप्त करने के लिए कमेंट करके अवश्य बताएं हमारी टीम आपके सवाल का तुरंत जवाब देने का प्रयास करेगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.