World Polio Day 2023 | जानें विश्व पोलियो दिवस कब व क्यों मनाया जाता हैं?(Theme, Importance, Signification)

World Polio Day

World Polio Day 2023:- जैसा कि  लोग जानते हैं 24 अक्टूबर को विश्व में पोलियो दिवस मनाया जाता हैं | पोलियो दिवस मनाने के पीछे की वजह है कि पोलियो जैसी घातक बीमारी को पूरी तरह से समाप्त करना क्योंकि इसके कारण कई बच्चे विकलांग हो जाते हैं I जिसके कारण उनका पूरा भविष्य बर्बाद हो जाता है I Vishva Polio Diwas 2023 के माध्यम से विश्व स्तर पर पोलियो के बारे में जागरूकता का कार्य किया जाता हैं। तांकि लोग समझ सके कि छोटे बच्चों को पोलियो खुराक पिलाना कितना आवश्यक है | नहीं तो उनका पूरा बचपन और उनका जीवन पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा .अब आपके मन मे सवाल आएगा कि पोलियो दिवस कब मनाया जाता है? क्यों मनाया जाता है? विश्व पोलियो दिवस थीम 2023 क्या है? विश्व पोलियो दिवस पर निबंध कैसे लिखेंगे? ऐसे तमाम सवाल अगर आपके मन में आ रहे हैं तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे आर्टिकल पर आखिर तक बने रहें चलिए शुरू करते हैं:-

विश्व पोलियो दिवस 2023 -Overview

दिवस का नामविश्व पोलियो दिवस
साल2023
कब मनाया जाएगा24 अक्टूबर को
कहां मनाया जाएगापूरे विश्व में
क्यों मनाया जाएगालोगों को पोलियो के बारे में जागरूक किया जा सके
उद्देश्य क्या हैपोलियो का उन्मूलन का नाम
पोलियो कैसी बीमारी हैसंक्रमित बीमारी है

World Polio Day 2023 | विश्व पोलियो दिवस

World Polio Day 2023:- 24 अक्टूबर को विश्वभर में पोलियो दिवस मनाया जाता हैं | पोलियो दिवस मनाने के पीछे की वजह है कि पोलियो जैसी घातक बीमारी को पूरी तरह से समाप्त करना क्योंकि इसके कारण कई बच्चे विकलांग हो जाते हैं |

पोलियो (पोलियोमाइलाइटिस), पोलियो वायरस के कारण होने वाली एक अक्षम्य और जीवन-घातक बीमारी है। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है और व्यक्ति की रीढ़ की हड्डी को संक्रमित कर सकता है, जिससे पक्षाघात हो सकता है।पोलियो एक अत्यधिक संक्रामक रोग है, जो पोलियोवायरस के कारण होता है जो तंत्रिका तंत्र पर हमला करता है। WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के अनुसार इस बीमारी का स्तर इतना अधिक है कि 200 संक्रमित लोगों में से 1 को स्थायी पक्षाघात का खतरा होता है। इसलिए वैश्विक स्तर पर पोलियो उन्मूलन को महत्वपूर्ण माना गया। यही कारण है कि विश्व पोलियो दिवस एक महत्वपूर्ण दिन है जो पोलियो उन्मूलन के लिए पोलियो टीकाकरण के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।अब आपके मन मे सवाल आएगा कि पोलियो दिवस कब मनाया जाता है? क्यों मनाया जाता है? विश्व पोलियो दिवस थीम 2023 क्या है? विश्व पोलियो दिवस पर निबंध कैसे लिखेंगे? ऐसे तमाम सवाल अगर आपके मन में आ रहे हैं तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे आर्टिकल पर आखिर तक बने रहें चलिए शुरू करते हैं:-

Also Read: नेशनल डॉक्टर्स डे, जानें इसका इतिहास, महत्व व थीम

विश्व पोलियो दिवस कब मनाया जाता हैं | World Polio Day 2023

World Polio Day : विश्व पोलियो दिवस प्रत्येक साल 24 अक्टूबर को मनाया जाता है I

विश्व पोलियो दिवस क्यों मनाया जाता हैं?

World Polio Day मनाने के सबसे प्रमुख वजह है कि विश्व स्तर पर पोलियो जैसी घातक बीमारी का उन्मूलन करना ताकि इससे बच्चों को विकलांग होने से बचा जा सके I विश्व में पोलियो को समाप्त करने के लिए पोलियो संबंधित विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम और अभियान का संचालन किया जा रहा है | ताकि छोटे बच्चों को पोलियो संबंधित खुराक दी जाए ताकि उनको जैसी घातक बीमारी से बचा जा सके I विश्वा स्तर पोलियो को समाप्त करने के लिए कई प्रकार के अंतरराष्ट्रीय सामाजिक संस्थान काम कर रहे हैं . उनमें से विल गेट द्वारा स्थापित रोटरी इंटरनेशनल और बिल एंड मलिंडा गेट्स फाउंडेशन का भी नाम आता है | जो विश्व स्तर पर पोलियो को समाप्त करने के लिए फंडिंग जुटाने का काम करती है यार 17 में किस संस्था ने कुल मिलाकर 450 मिलियन डॉलर का पैसा जुटाया था ताकि उन पैसों के माध्यम से पोलियो जैसी भयंकर बीमारी का उन्मूलन किया जा सके I

See also  Azadi ka Amrit Mahotsav 2023 | इस वर्ष आजादी का अमृत महोत्सव क्यों हैं खास

विश्व पोलियो दिवस कैसे मनाया जाता हैं- Viswa Polio Diwas Celebration

विश्व पोलियो दिवस के दिन पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं और साथ में अभियान की शुरुआत की जाती है ताकि लोगों को अधिक से अधिक पोलियो दिवस के बारे में जागरूक किया जा सके कि पोलियो बच्चों को खिलाना कितना आवश्यक है आज भी दुनिया के कई ऐसे देश है जहां पर पोलियो के कारण कई लाख बच्चे विकलांग हो जाते हैं और कई की तो मौत भी हो जाती है I इसलिए विश्व स्तर पर अगर इस बीमारी को समाप्त करना है तो पोलियो दिवस संबंधित विभिन्न प्रकार के सोशल कैंप आयोजित करने होंगे जहां पर अधिक से अधिक परिवार वालों को निमंत्रित किया जाएगा I ताकि उनके बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जा सके इसके अलावा घर-घर जाकर छोटे बच्चों को पोलियो की खुराक भी खिलाने की जिम्मेदारी सामाजिक संस्थानों को उठानी होगी |

इसके अलावा पोलियो जैसी घातक बीमारी को समाप्त करने के लिए फंडिंग की भी जरूरत पड़ती है उसके लिए लोगों से अनुरोध करना होगा कि वह अपने योग्यता के अनुसार कुछ पैसे दान करें ताकि उन पैसों से इस बीमारी को जड़ से समाप्त किया जा सके I हमें विश्व पोलियो दिवस के दिन पर ऐसे लोगों को सलाम करना चाहिए जो अपनी जान को जोखिम में डालकर दुर्गम स्थानों पर जाकर छोटे बच्चों को पोलियो खिलाने का काम करते हैं |

विश्व पोलियो दिवस 2023 का महत्व | Viswa Polio Divas Mahatav

World Polio Day 2023 : विश्व पोलियो दिवस पर, रोटरी इंटरनेशनल, डब्ल्यूएचओ और अन्य जैसे वैश्विक संगठन पोलियो के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए कई कार्यक्रमों की मेजबानी करते हैं। कार्यक्रम रैलियों, पदयात्राओं और वेबिनार से लेकर स्कूलों और क्लबों में प्रतियोगिताओं के आयोजन तक होते हैं। पोलियो उन्मूलन की वैश्विक लड़ाई में योगदान देने के लिए कोई भी सदस्य छोटा नहीं है।सभी के लिए पोलियो मुक्त भविष्य सुनिश्चित करने के लिए, उच्च टीकाकरण कवरेज बनाए रखने, वायरस की किसी भी उपस्थिति का पता लगाने के लिए उच्च गुणवत्ता वाली निगरानी लागू करने और प्रकोप की स्थिति में प्रतिक्रिया देने के लिए तैयार रहने के प्रयास जारी रहने चाहिए।

विश्व पोलियो दिवस थीम 2023 – Theme of Viswa Polio Divas

Viswa Polio Divas Theme : प्रत्येक साल विश्व पोलियो दिवस की एक विशेष टीम होती है इस बार 2023 में विश्व पोलियो दिवस की थीम माताओं और बच्चों के लिए एक स्वस्थ भविष्य” (A healthier future for mothers and children) रखी जा सकती है। इसके अनुसार ही इस बार विश्व पोलियो दिवस मनाया जाएगा I

Yearवर्ल्ड पोलियो डे थीम (Theme)
2015“पोलियो अब समाप्त करें: आज इतिहास बनाएं”।
2016“पोलियो समाप्त करो, आज इतिहास बनाओ”।
2017“पोलियो उन्मूलन के अनसुने नायकों का उत्सव”।
2018“एंड पोलियो नाउ”।
वर्ष 2020 की Theme ‘Stories of Progress: (Latest Theme)Past and Present’ (प्रगति की कहानियाँ: अतीत और वर्तमान) थी।

विश्व पोलियो दिवस पर निबंध | Essay On World Polio Day in Hindi

पोलियो एक प्रकार का संक्रमित बीमारी है जो वायरस के द्वारा फैलता है या विशेष तौर पर बच्चों को प्रभावित करता है I पोलियो के वायरस केंद्रिका तंत्र पर हमला करते हैं और उसके विकास को रोक देते हैं जिसके कारण ही छोटे बच्चों में विकलांगता जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है, यही कारण है कि 5 साल से छोटे बच्चों को पोलियो के नियमित खुराक दी जाती है ताकि पोलियो के वायरस उनके ऊपर हमला ना कर सके I

See also  Kalawa Rules: कलावा बांधने का सही नियम, लाभ क्या है? बाएं हाथ में ना पहने कलावा नहीं तो इसके नकात्मक प्रभाव होंगे

पोलियो के प्रकार क्या हैं? Type of Polio

पोलियो निम्नलिखित प्रकार के होते हैं जिसका विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे आइए जानते हैं-

एबोर्टिव पोलियोमाइलाइटिस:-

 यह पोलियो का सबसे हल्का रूप है। इस प्रकार की पोलियो छोटे बच्चों में विशेष तौर पर होते हैं इनका प्रभाव काफी कम होता है 72 घंटे के अंदर इसे दवाइयों के द्वारा ठीक किया जा सकता है I

नॉनपेरालिटिक पोलियोमाइलाइटिस:-

इस प्रकार के पोलियो में 10 दिनों तक आपके शरीर में इसके लक्षण दिखाई पड़ेंगे उसके बाद पूरी तरह से समाप्त हो जाएंगे I

पैरालिटिक पोलियोमाइलाइटिस:-

इसे पोलियो का सबसे खतरनाक रूप में आ जाता है अगर ऐसी पोलियो किसी व्यक्ति को हो जाए तो उस व्यक्ति को लकवा मारने की संभावना सबसे ज्यादा होती है I इसमें वायरस मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी तक फैलता है जो मांसपेशियों की गति को नियंत्रित करने वाले नसों को नुकसान पहुंचाता है जिसके कारण व्यक्ति का शरीर काम करना बंद हो जाता है I

पोलियो के लक्षण क्या है:- Symptoms of Polio

पोलियो जैसी संक्रमित बीमारी के लक्षण को पहचान पाना काफी मुश्किल होता है फिर भी इसके कुछ शुरुआती लक्षण होते हैं जिसके आधार पर इस बात की जानकारी डॉक्टर के द्वारा लगाई जाती है कि पोलियो जैसी गंभीर बीमारी आपको हो चुकी है उस के शुरुआती लक्षण कुछ इस प्रकार के हैं जिसका विवरण हम आपको नीचे देंगे आइए जानते हैं-

  • उल्टी के साथ सिरदर्द
  • अकड़न और पीठ दर्द, गर्दन में दर्द
  • मांसपेशियों में कोमलता या कमजोरी
  • हाथ और पैर में दर्द और जकड़न
  • गले में खरास
  • थकान

लगातार 10 दिनों तक अगर आप अपने शरीर में इस प्रकार के लक्षण को महसूस कर रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें I

पोलियो होने के कारण क्या होते हैं- Cause of Polio in Hindi

पोलियो संक्रमित बीमारी है यह  बीमारी दूषित स्थानों के द्वारा व्यक्ति के शरीर में प्रवेश करता है I एक बार पोलियो के वायरस किसी व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाए तो वह सबसे पहले गले और आंतों को संक्रमित करना शुरू करता है इसके बाद आंतों के रास्ते शरीर के सभी भागों में फैल जाता है जिसके कारण ही व्यक्ति को लकवा और विकलांगता जैसी बीमारी हो जाती है I

यह भी जानें :- हमास क्या हैं? इज़राइल और हमास क्यों लड़ रहे हैं?

पोलियो का इलाज (Treatment of Polio)

सबसे अहम बात है कि पोलियो जैसी घातक बीमारी का मेडिकल साइंस में कोई इलाज नहीं है, लेकिन कुछ मेडिकल उपचार है, जिसके माध्यम से इसके लक्षण को कम करने का काम किया जाता है | इसका विवरण हम आपको नीचे देंगे |

  • एंटीबायोटिक्स का प्रयोग पेशाब मार्ग का संक्रमण) को हम करने के लिए किया जाता है |
  • हीटिंग पैड इस्तेमाल शरीर में दर्द और ऐंठन कम करने के लिए
  • सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन को कम करने के लिए पेन किलर दवाइयों का इस्तेमाल किया जाता है
  • फिजिकल थेरेपी का प्रयोग मांसपेशियों को मजबूती और उसके कारण प्रणाली को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए किया जाता है हालांकि कुछ गंभीर मामलों मे आर्थोपेडिक सर्जरी भी की जा सकती ताकि पोलियो के लक्षण को कम किया जा सके I

पोलियो से बचने के उपाय– Prevention of Polio

पोलियो से बचने के लिए पोलियो के टीके का इस्तेमाल करना होता है पोलियो के टीके दो प्रकार के होते हैं जिसका विवरण हम आपको नीचे देंगे आइए जानते हैं |

ओरल पोलियो वैक्सीन: (Oral Polio Vaccine)

इस प्रकार का वैक्सीन पोलियो से बचाव के लिए दिया जाता है इसमें सबसे पहले वैक्सीन को मुंह के माध्यम से आपके शरीर में प्रवेश कर जाता है इस वैक्सीन के साइड इफेक्ट भी हैं कुछ मामलों में देखा गया है कि इस वैक्सीन को लेने वाला व्यक्ति दूसरे व्यक्ति को पोलियो जैसी घातक बीमारी से संक्रमित कर देता है यही कारण है कि अमेरिका ने इस वैक्सीन को बैन कर दिया था लेकिन फिर भी आज की तारीख में ऐसे कई देशों में इस्तेमाल किया जाता है I

See also  Ram Navami 2023 | चैत्र रामनवमी कब है, रामनवमी क्यों मनाई जाती है | जाने इतिहास, पूजा विधि, और शुभ मुहूर्त

Also Read: विश्व मलेरिया दिवस 2023 की थीम

इनएक्टिवेटेड पोलियो वायरस वैक्सीन (Inactivated Poliovirus Vaccine)

इस वैक्सीन को इंजेक्शन के माध्यम से शरीर में प्रवेश कब आ जाता है यही वजह है कि इसका इस्तेमाल आकर समय सबसे अधिक होता है और यह काफी सुरक्षित वैक्सीन है इसके कोई भी साइड इफेक्ट शरीर के अंदर नहीं होते हैं और ना ही दूसरे व्यक्ति को इससे कोई खतरा होता है भारत में छोटे बच्चों को यही वैक्सीन दीया जाता है I

सबसे आखिर में हम आपको कहना चाहेंगे कि पोलियो बीमारी से अगर आपको बचना है तो इसका टीका जरुर लगाएं ताकि आपको पोलियो जैसी भयंकर बीमारी ना हो विशेष तौर पर छोटे बच्चों को पोलियो की सभी खुराक नियमित अंतराल पर दिलाएं ताकि उनको पोलियो से बचा जा सके I

यह भी जानें:- नवरात्री से जुड़े लेख भी पढ़ें:-

Navratri Festival 2023Similar Posts Links
नवरात्रि कब से शुरू होगी | स्थापना, मुहूर्त, नवरात्रि की महिमा जानेClick Here
नवरात्रि व्रत के नियम, व्रत विधि, कथा, व्रत पारण विधिClick Here
नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं सन्देशClick Here
नवरात्रि कोट्स (Navratri Quotes)Click Here
नवरात्रि स्टेटस (Navratri Status)Click Here
नवरात्रि शायरी (Navratri Shayari)Click Here
नवरात्री पूजा विधि, स्थापना मुहूर्त, पूजा मंत्र, आरतीClick Here
नवरात्रि पर नौ रंग का महत्व जानेंClick Here

पोलियो के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्य (Important Facts About Polio)

  • यह अच्छी तरह से समझा जाता है कि पोलियो एक घातक बीमारी है। लेकिन ये तथ्य आपको बीमारी को और समझने में मदद करेंगे और पोलियो उन्मूलन दिवस के महत्व से अवगत कराएंगे।
  • पोलियो मुख्य रूप से संक्रमित मल और दूषित पानी (संक्रमित मानव अपशिष्ट के कारण) से फैलता है और खांसी या छींक के माध्यम से भी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है।
  • हालाँकि किसी भी उम्र का व्यक्ति इस बीमारी का शिकार हो सकता है, लेकिन यह मुख्य रूप से कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों, गर्भवती महिलाओं और 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को प्रभावित करता है।
  • बीमारी के दो बुनियादी पैटर्न हैं – पहला प्रकार एक छोटी बीमारी है जिसे गर्भपात पोलियोमाइलाइटिस कहा जाता है, जो केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (सीएनएस) को प्रभावित नहीं करता है। दूसरा प्रकार अधिक गंभीर है, क्योंकि यह सीधे सीएनएस को प्रभावित करता है और लकवाग्रस्त या गैर-लकवाग्रस्त हो सकता है। लगभग 95% मामलों में, रोग कोई लक्षण नहीं दिखाता है।
  • पोस्ट-पोलियो सिंड्रोम भी इस बीमारी का एक हिस्सा है, जिससे कुछ मामलों में, पोलियो से बचे लोगों को ठीक होने के वर्षों के बाद दोबारा बीमारी हो जाती है।
  • पक्षाघात से पीड़ित लोगों के मामले में, 5 से 10% रोगियों की मृत्यु हो जाती है यदि उनकी सांस लेने वाली मांसपेशियां भी निष्क्रिय हो जाती हैं।
  • पोलियो का कोई इलाज नहीं है, इसलिए टीकों के माध्यम से रोकथाम बिल्कुल महत्वपूर्ण है, और शिशुओं को इसे निर्धारित समय पर प्रदान किया जाना चाहिए। एक भी बच्चे के संक्रमित होने से दुनिया के सभी देशों के बच्चों को ख़तरा हो सकता है।
  • 2020 तक, पोलियोमाइलाइटिस उन्मूलन के प्रमाणन के लिए वैश्विक आयोग ने घोषणा की है कि वाइल्ड पोलियो वायरस टाइप 3 विश्व स्तर पर समाप्त हो गया है।
  • चूंकि पोलियो का कोई इलाज नहीं है, इसलिए इसे फैलने से रोकने का जल्द से जल्द अपने बच्चे को टीका लगाने के अलावा कोई अन्य तरीका नहीं है। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप अपने बच्चे को समय पर टीकाकरण प्रदान करके उसके जीवन की रक्षा करें, और बदले में, इस घातक वायरस के संचरण को कम करने में भी अपनी भूमिका निभाएँ!

Upcoming Events List :

1.विश्व खाद्य दिवस कब व क्यों मनाया जाता है? जानें थीम, इतिहास और महत्व
2.World Food Safety Day Quotes, Poster Massages
3.विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस पर स्लोगन, नारे, पोस्टर, संदेश, हार्दिक शुभकामनाएं
4.विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस पर निबंध

FAQ’s World Polio Day 2023

Q: पोलियो दिवस कब मनाया जाता है?

Ans: पोलियो दिवस 24 अक्टूबर को भारतवर्ष में मनाया जाता है I

Q: 2023 में विश्व पोलियो दिवस का थीम क्या है?

Ans:माताओं और बच्चों के लिए एक स्वस्थ भविष्य” (A healthier future for mothers and children) रखी गई है I

Q: विश्व पोलियो दिवस क्यों मनाया जाता है?

Ans: विश्व पोलियो दिवस मनाने के पीछे की वजह है कि विश्व स्तर पर पोलियो जैसी गंभीर बीमारी के बारे में लोगों को जागरूक किया जा सके I

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja